पटना में दिखेगी विपक्ष की एकता , लालू करेंगे महारैली

27 Aug 2017
8818 times

आवाज़ न्यूज़ ब्यूरो (पटना): पटना के गांधी मैदान में आज आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव की 'देश बचाओ, बीजेपी भगाओ' रैली में विपक्ष की एकता देखने को मिलेगी. इस रैली के माध्यम से लालू और उनका परिवार केंद्र की बीजेपी सरकार के खिलाफ हल्ला बोलेंगे.

रैली से पहले लालू ने कहा कि इस रैली का ऐलान तीन महीने पहले किया था. उस समय हम महागठबंधन में थे. उस समय बेरोजगारी, भुखमरी, नोटबंदी और जीएसटी के खिलाफ रैली का ऐलान किया था, पर अब पलटू राम की वजह से हम बाहर हैं. यह आरजेडी की रैली है. अब हम सरकार से बाहर हैं. हमारे पास ज्यादा मुद्दे हैं. नीतीश कुमार हमारे निशाने पर हैं.

लालू ने कहा कि रैली में सभी विपक्ष के नेता शामिल हो रहे हैं. शरद यादव, अखिलेश यादव और ममता बनर्जी आ रही हैं. सोनिया जी बीमार होने के कारण रैली का हिस्सा नही बन पाएंगी लेकिन उनका रिकॉर्डेड भाषण रैली में सुनाया जायेगा. राहुल गांधी विदेश में हैं. मायावती व्यतिगत कारणों से नहीं आ रही हैं.

लालू ने कहा कि रैली को विफल बनाने के लिए बाढ़ लाया गया. बांध कटवाया गया. बाढ़ का कोई असर नही पड़ेगा. मेरी रैली पहले से तय थी, ऐसे में बाढ़ आ गई. नरेंद्र मोदी ने 500 करोड़ रुपया बाढ़ राहत में देकर बिहार को दुख दिया है.

शहर में चारों और लगे लालू-तेजस्वी के पोस्टर

आरजेडी की 'देश बचाओ, बीजेपी भगाओ' रैली की तैयारियां जोरों पर है. लालू के छोटे बेटे और पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव खुद रैली की तैयारियों का जायजा ले रहे हैं. रैली को लेकर पूरा पटना पार्टी के हरे रंग के बैनर और पोस्टर से पटा है.
 

 

बाढ़ प्रभावित जिलों से भी पहुंच रहे समर्थक

राज्यभर से आरजेडी के तमाम समर्थकों का पटना में जुटान शुरू हो गया है. राज्य के 20 जिलों में बाढ़ की भीषण विभीषिका आई हुई है मगर उसके बावजूद भी कोशिश की जा रही है कि इन प्रभावित जिलों से भी आरजेडी के ज्यादा से ज्यादा समर्थकोंको पटना के गांधी मैदान में रैली के लिए बुलाया जाए. राज्य के चारों तरफ से बसों, ट्रेनों, निजी वाहनों के अलावा नाव से भी समर्थकों को पटना लाया जा रहा है.

पार्टी समर्थकों के लिए पूरा इंतजाम

आरजेडी के जो भी समर्थक पटना पहुंच रहे हैं उनके रहने और खाने पीने का इंतजाम पार्टी के 80 विधायक, सात पार्षद और तीन सांसदों के जिम्मे है. कार्यकर्ताओं के रहने के लिए बड़े-बड़े शामियाने लगाए गए हैं. भोजन की पूरी व्यवस्था की गई है.

सुरक्षा के लिहाज से इस रैली के लिए तकरीबन 7000 पुलिस के जवानों और 1000 मजिस्ट्रेट की तैनाती की जा रही है. प्रशासन के हाथ पांव फूले हुए हैं.

कांग्रेस ने अपने वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद को रैली में शामिल होने के लिए भेजा है. हालांकि सबकी नजर शरद यादव पर है. अगर वो लालू के मंच पर दिखे तो जेडीयू से उनका पत्ता साफ होना तय है.

ममता और अखिलेश भी होंगे रैली का हिस्सा

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भी इस रैली में हिस्सा लेंगी. इसके अलावा सीपीआई के डी. राजा और डीएमके के टी.के.एस इलानगोवान भी शामिल होंगे, तो उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव भी रैली में दिखेंगे.

रैली में लालू एक तरफ जहां केंद्र सरकार के खिलाफ हल्ला बोलेंगे और राजनीतिक षड्यंत्र के तहत उनके परिवार को बेनामी संपत्ति के मामले में फंसाने का आरोप लगाएंगे. वहीं दूसरी ओर भागलपुर के सृजन घोटाले को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी पर जमकर सियासी हमला होना तय है.

लालू की रैली को संबोधित करेंगे अखिलेश

लालू प्रसाद यादव द्वारा 27 अगस्त को पटना के गांधी मैदान में आयोजित जन रैली को समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष अखिलेश यादव भी संबोधित करेंगे. सपा के मुख्य प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी ने बताया कि अखिलेश यादव 27 तारीख को सुबह 11 बजे पटना के गांधी मैदान पहुंचेंगे और जन रैली में शामिल होने के बाद उसी दिन दो बजे लखनऊ के लिए प्रस्थान कर जाएंगे.

प्रवक्ता ने बताया कि अखिलेश 30 अगस्त को आजमगढ़ के दौरे पर रहेंगे. पूर्व मुख्यमंत्री आजमगढ़ में थाना जियनपुर कोतवाली के ग्राम नत्थूपुर में अमर शहीद रामसमुझ यादव की प्रतिमा का अनावरण करेंगे. अखिलेश यादव वहां एक जनसभा को भी संबोधित करेंगे.

 

Rate this item
(0 votes)

Latest from Super User